Advertisement

Pradhan Mantri Adarsh Gram Yojana Kya Hai ~ प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना pdf

Advertisement

Pradhan Mantri Adarsh Gram Yojana Kya Hai ~ प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना pdf | PM Adarsh Gram Yojana in Hindi | प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना कब शुरू की गई | PM Adarsh Gram Scheme 2022 | प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना 2022 | PMAGY Kya Hai | पीएम आदर्श ग्राम योजना क्‍या है | Pradhanmantri Adarsh Gram Yojana in Hindi | पीएम आदर्श ग्राम योजना इन हिंदी | Adarsh Gram Yojana 2022

PM Adarsh Gram Yojana 2022:- भारत सरकार देश के गॉवों में विकास (Rural Developments) के लिए नई पहल लेकर आयी है जिसके तहत ग्रामीण इलाकों को आदर्श व विकासशील बनाने के लिए वित्तीय सहायता राशि दी जाएगी। जी हा हम बात कर रहे है प्रधानमंत्री आदर्श ग्रमा योजना के बारें में। Pradhan Mantri Adarsh Gram Yojana की शुरूआत वर्ष 2009 व 10 में हुई थी जिसका लक्ष्‍य गॉवों में विकासदर को बढ़ा देना रखा गया था। यदि आप इस कल्‍याणकारी सरकारी स्‍कीम के बारें में विस्‍तार से जानना चाहते है तो पोस्‍ट में दी गई टिप्‍पणी के अंतिम शब्‍दों तक बने रहना है। तो चलिए शुरू करते है प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम स्‍कीम के बारें में-

Advertisement

क्‍या है प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना 2022

Pradhan Mantri Adarsh Gram Yojana  | प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना क्‍या है
Pradhan Mantri Adarsh Gram Yojana

देश में गॉवों में क्षेत्रीय दृष्टिकोण को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना लेकर आयी है। जिसके तहत उन सभी गॉवों को एक साथ विकास करना है जिनमें 50 प्रतिशत से भी ज्‍यादा अनुसूचित जाति की जनसंख्‍या निवास करती है। Pradhan Mantri Adarsh Gram Yojana के पहले चरण में तमिनलाड़ राज्‍य के 225 गॉंव, राजस्‍थान राज्‍य (225), हिमाचल प्रदेश राज्‍य (225), बिहार राज्‍य (225), और असम राज्‍य के कुल 100 गॉव लिए है जो लगभग कुल एक-साथ 100 गांवो को विकास के लिए चुना गया है। जिसके बाद वर्ष 2014-15 में योजना के तहत 11 राज्‍यों के 1500 गॉवों को एक साथ लिया गया है। जो की इस प्रकार है- छत्तीसगढ़ (175), मध्‍य प्रदेश (327), ओडिशा (175), पंजाब (162), झारखंड (100), कर्नाटक (201), हरियाणा (12), आंध्र प्रदेश (07), असम (75), तेलगांना (6) और उत्तर प्रदेश राज्‍य के 206 लिए है।

आदर्श ग्राम एक ऐसी संकल्‍पना है जिसके नागरीको को विभिन्‍न प्रकार की बुनियादी सेवाऐं दी जाती है। ताकी समाज में सभी वर्गो के आवश्‍यकताए पूरी हो सकेे और असमानताए व छूआछूत जैसी कुरितिया में कमी आऐ। इन सभी गांवों में कई प्रकार का विकास होगा और यहा के निवासियों को अनेक प्रकार की सुख-सुविधाए दी जाएगी। जिससे हर व्‍यक्ति समान्‍नजनक जीवन व्‍यतीत कर सके और समाज में सुधार हो।

प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना का उद्देश्‍य क्‍या है

इस स्‍कीम को लाने के पीछे सबसे खास मकसद तो चयनित गांवों को एकीकृत विकास करना है। ये वह गांव है जो सामार्जिक-आ‍र्थिक विकास के साथ सभी प्रकार से पिछड़े हुए है। जैसे- अछूतों के खिलाफ अछूत, अलगाव, अन्‍याय, भयावहता को समाप्‍त करके नया समाज विकसित करना है। साथ ही योजना के दिशा निर्देशों के अनुसार गैर एएसी व एससी आबादी के बीच में अतंर को कम करने के साथ राष्‍ट्रीय औसत के स्‍तर तक बढ़ाना है। खास रूप से इन गांवो में जो परिवार बीपीएल एससी में आते है उनकी आ‍र्थिक स्थिति में सुधान लाने हेतु खाद्य सुरक्षा के साथ अन्‍य कई प्रकार की सुरक्षा प्रदान करना है।

Advertisement

इन सभी पछिड़े हुए गांवो के बच्‍चें को शिक्षित कराना है तथा कुपोषण के शिकार से बचाने हेतु पोषटि आहार प्रदान करना है। कई गांव तो ऐसे है जहा पर पानी व बिजली की व्‍यवस्‍था अभी नहीं है उन सभी घरों को बिजली प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के जरिए पहुचाना है। और सामाजिक व आर्थिक संकेतों में सुधार लाना है। इन गांवों को सभी प्रकार से योजना के जरिए विकासशील बनाया जाएगा।

पीएम आदर्श ग्राम योजना के तहत सुधार वाले कार्यक्षेत्र जानिए

PMAGY के अतंर्गत देश में उन सभी गांवों में जहा पर 50 प्रतिशत से भी ज्‍यादा आबादी अनुसूचित जाति की है। वहा पर निम्‍नलिखित विकास किया जाएगा। जो की इस प्रकार है- Pradhan Mantri Adarsh Gram Yojana

  • पेयजल और स्‍वच्‍छता
  • शिक्षा
  • स्‍वास्‍थ्‍य और पोषण
  • समाज सुरक्षा
  • ग्रामीण सड़के और आवास
  • विद्युत और स्‍वच्‍छत इंधन
  • कृषि पद्धतिया
  • वित्तीय समावेश
  • डिजीटलीकरण
  • जीवन यापन और कौशल विकास

पीएमएजीवाई के तहत राज्‍यों व गांवो का चयन

वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार देश के लगभग 46844 गॉंवो में लगभग 50 प्रतिशत से भी अधिकत जनसंख्‍या केवल अनुसूचितीयों की है। ये सभी गांव देश के 25 राज्‍यों और संघ राज्‍य क्षेत्रों के 570 जिला में आते है। इस योजना के जरिए सबसे पहले उन 50 प्रतिशत से अधिक अनुसूचित जाती वाली आबादी के गांवो को चुना जाएगा। जिनकी आबादी लगभग 500 है। उन सभी गांवों को Pradhanmantri Adarsh Gram Yojana के जरिए सर्वप्रथम अनुसूचित जाती की आबादी के घटते क्रम में चयन के लिए पात्र समझा जाएगा। इस योजना के तहत चुने हुए गांवो में लगभग 05 वर्षो तक विकास करने की रूप-रेखा तैयार की गई है।

Advertisement

Pradhan Mantri Adarsh Gram Yojana 2022

  • पीएमएजीवाई के जरिए इन सभी गांवों में नये आगंनबाड़ी केन्‍द्र खोले जाएगे और बच्‍चों को उचित पोष्‍ट्रिक आहार प्रदान किया जाएगा।
  • इसके अलावा बच्‍चों को शिक्षित करने के लिए बहुत से नऐ स्‍कूलों व संस्‍थानों का निर्माण कराया जाएगा।
  • साथ ही हर किस्‍त में मौसम के अनुसर नए सड़को व पूलो का निमार्ण करवा जाएगा।
  • PMAGY के अतंर्गत सभी गांवों में साेलर लाईट और स्‍ट्रीट लाइट लगवाई जाएगी।
  • इस योजना के जरिए सभी गावों की स्‍कूलों व आगंबाडी केन्‍द्रों पर उचित शौचालय की व्‍यवस्‍था करी जाएगी।
  • इनके अलावा पानी की भी उचित व्‍यवस्‍था कराई जाएगी ताकी गांव वालो को किसी प्रकारी की समस्‍या का सामना नहीं करना पड़े।
  • प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना (Pradhan Mantri Adarsh Gram Yojana) के जरिए इन सभी गांवो को डिजीटलीकरण अर्थात कॉमन सर्विस सेंटर, साइबर कैफे के साथ-साथ इंटरनेट की सुविधा उपलब्‍ध कराई जाएगी।
  • किसानों को खेती में नवनीकरण की पद्धतिया सिखाई जाएगी ताकी उनकी आय में सभी प्रकार से वृद्धि हो सके।
  • गांवों की सभी सड़को को पक्‍की बनाई जाएगी और मुख्‍य मार्ग अर्थात राज्‍य मार्ग या राष्‍ट्रीय मार्ग से जाड़ा जाएगा।
  • यदि किसी जगह पर किसान को नदी पार करनी पड़ती है तो उस जगह पर पूल बनवाया जाएगा।

दोस्‍तो आज के इस लेख में आपको प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना (Pradhan Mantri Adarsh Gram Yojana) के बारें में जानकारी प्रदान की है। जो की न्‍यूज व ऑफिशिय नोटिफिकेशन के आधान पर व्‍याख्‍यान की गई है। जानकारी अच्‍छी लगी तो लाईक करे व सभी के साथ साझा अवश्‍य करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published.