Advertisement

यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना योजना रजिस्‍ट्रेशन फॉर्म 2022~UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana

Advertisement

यूपी कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना पीडीएफ, उत्तरप्रदेश कृषक दुघर्टना कल्‍याण मुआवजा की राशि, यूपी कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना आवेदन फॉर्म पीडीएफ, UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana form PDF, Up Krishak Durghatna Kalyan Yojana Benefists, यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना के लाभ, यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना योजना की पात्रता व दस्‍तावेज

चाहे केन्‍द्र हो या फिर राज्‍य सरकार, दोनो के द्वारा ही अपने स्‍तर पर किसानों के लिए कई तरह की योजनाए चलाई जाती है। आज हम आपको यूपी सरकार द्वारा किसानो को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए शुरू की जा रही एक ऐसी ही योजना की जानकारी देने वाले है जिसका नाम है यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना। इस योजना के तहत किसानों को किसी दुर्घटना के कारण मृत्‍यु अथवा दिव्‍यांग होने पर सरकार की ओर से आर्थिक राशि मुआवजा के रूप में दी जाएगी। UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana के तहत हादसे का शिकार होने वाले कृषक को ₹500000 तक की आर्थिक सहायता इस योजना के तहत प्रदान की जाती है।

Advertisement

यदि दोस्‍ताे आप एक किसान है व यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना 2022 के तहत सभी जानकारीयो के बारे में जानना चाहते है तो इसके लिए आपको हमारे इस लेख को पूरा लास्‍ट तक पढ़ना होगा।

योजना का नामयूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना
योजना का उद्देश्‍यकृषको को मुआवजा देना
योजना के लाभार्थीराज्‍य के किसान
मुआवजा राशि500000 रूपये तक
ऑफिशियल वेबसाइट का लिंकअभी नहीं

Table of Contents

UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana

यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना को राज्‍य में पहले से चली आ रही पूर्व योजना मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना बीमा योजना के स्‍थान पर शुरू किया जा रहा है। यह योजना सपूंर्ण राज्‍य में 14 सितम्‍बर 2019 से प्रभावी होगी। इस योजना के तहत प्रदेश के 18 वर्ष की आयु से लेकर 70 वर्ष की आयु वाले किसानों को किसी दुर्घटना के चलते मृत्‍यु होने की दशा या फिर दिव्‍यांग होने पर आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाएगी। किसानो को दुघर्टना की क्षतिपूर्ति की एवज मे सरकार द्वारा अधिकतम ₹5 लाख रूपये की सहायता प्रदान की जाएगी। UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana के तहत दी जाने वाली यह राशि कृषक की दिव्‍यागंता के आधार पर अलग अलग होगी।

वही अगर कोई किसान कृषि कार्यो के दौरान दुघर्टना क शिकार हो जाता है तो कृषक या उसके वारिस को 45 दिनों के भीतर यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना में आवेदन करना होगा।

Advertisement

यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना बजट 2021-22

यूपी सरकार द्वारा हाल में प्रदेश का पहला पेपरलैस बजट पेश किया गया। इस बजट में प्रदेश के किसानों एवं अन्‍नदाताओं के विकास पर काफी जोर दिया गया। इस वित्तिय वर्ष के बजट में मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कलयाण योजना के लिए कुल 600 करोड़ रूपए के बजट का प्रावधान किया गया है। इसके अलावा किसानो के विकास के लिए एक अन्‍य योजना आत्‍मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना को शुरू करने की घोषणा भी की गई।

यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना शुरू करने का उदेश्‍य

दरअसल दोस्‍तों जैसा कि आप अच्‍छे से जानते है कि किसानो को अपने खेतों में फसल पैदा करने में बहुत कठिन परिश्रम करना पड़ता है। किसानो द्वारा खेतों में शारीरिक मेहनत के अलावा मशीनी उपकरणों का उपयोग किया जाता है जिसके चलते किसान कभी कभी हादसे के शिकार हो जाते है। जिसमें किसानो की मौत तक हो जाती है व कभी कभी किसान भाई शारीरिक रूप से विकलांग हो जाते है जिससे उनकी सामाजिक सुरक्षा का खतरा बना रहता है ऐसे में प्रदेश सरकार द्वारा किसानों को समाजिक सुरक्षा के रूप में आर्थिक सहायता देने के लिए UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana को शुरू किया गया है। जिससे कि किसान की मृत्‍यु या शारीरिक विकलांग होने पर परिवार को मुआवजा दिया जा सके। इस योजना के तहत किसानो को दुघर्टना ग्रस्‍त होने पर मृत्‍यु अथवा दिव्‍यांग होने पर अधिकतम ₹500000 की सहायता प्रदान की जाएगी। इस राशि की सहायता से किसान या उसके परिवार को वित्तिय परिस्थितियों का सामना करने में सहायता मिलेगी।

यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना योजना के तहत प्रदान की जाने वाली धनराशि

UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana 2022 के तहत कृषक को हादसे का शिकार होने पर मृत्‍यु या दिव्‍यांगता की स्थिति में 5 लाख रूपये तक की सहायता दी जाती है इस राशि का वहन यूपी राज्‍य सरकार द्वारा किया जाएगा। इस योजना के तहत 500000 रूपये की राशि निम्‍नानुसार प्रदान किया जाएगा-

Advertisement
दुघर्टना के चलते मृत्‍यु या दिव्‍यांग होने परयोजना के तहत दी जाने वाली आर्थिक सहायता राशि
मृत्‍यु अथवा पूर्ण शारीरिक अक्षमता की दशा में100 प्रतिशत
दोनो हाथ अथवा दोनो पैर अथवा दोनो आखो की क्षति होने पर 100 प्रतिशत
एक हाथ तथा एक पैर की क्षति होने पर 100 प्रतिशत
एक हाथ या एक पैर या एक आंख की क्षति होने की दशा में 50 प्रतिशत
स्‍थायी दिव्‍यांगता 50 % से अधिक होने की दशा में परन्‍तु 100% से कम50 प्रतिशत
स्‍थायी दिव्‍यांगता 25 प्रतिशत से अधिक किन्‍तु 50 प्रतिशत से कम होने पर25 प्रतिशत

UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana के तहत शामिल की गई दुघर्टनाए

उत्‍तरप्रदेश मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना 2021 के तहत किसानो को नीचे दी जा रही दुर्घटनाओ के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

  • इस योजना के तहत आंधी तूफान, पेड़ के गिरने या नीचे दबने, मकान गिरने आदि।
  • आग लगने, बाढ़, बिजली गिरने व करंट लगने की स्थिति में।
  • जीव-जन्‍तु या जानवर द्वारा काटने, मारने या फिर आक्रमण करने पर।
  • सापं के काटने की दशा में।
  • रेलगाड़ी, सड़क, हवाई जहाज या फिर अन्‍य वाहन आदि से दुर्घटना होने की दशा में।
  • भूस्‍खलन, गैस रिसाव, भूकंप, विस्‍फोट, सीवर चैबंर में गिरने पर।
  • नदी, झील, समुंद्र, तालाब, पोखर व कुएं आदि में गिरने पर।

यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना की पात्रता

इस योजना के तहत दुघर्टना का शिकार होने वाले कृषक को योजना का लाभ लेने के लिए कुछ पात्रता को पूरा करना होता है जो कि इस प्रकार है-

  • कृषक की मृत्‍यु या फिर दिव्‍यांग होने की तिथि को उसकी आयु 18 से 70 वर्ष होनी चाहिए।
  • केवल उत्तरप्रदेश राज्‍य के वे किसान जो कि दुर्घटना के चलते मृत्‍यु या दिव्‍यांग हो जाते है वे ही इस योजना मे लाभ के पात्र होगे।
  • इस योजना के तहत कृषक का नाम राजस्‍व अभिलेखो अर्थात् खतौनी में खातेदार या सहखातेदार के तौर पर दर्ज होना चाहिए।
  • जो किसान पट्टे पर प्राप्‍त जमीन या फिर बटाई पर कृषि करते है तथा उनकी आय का मुख्‍य साधन उस जमीन पर कृषि करना है वाे किसान इस योजना का लाभ ले सकते है।
  • यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना के तहत बताई गई दुघर्टनाओं के लिए ही कृषकों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • यदि कृषक की मृत्‍यु या दिव्‍यागंता किसान द्वारा स्‍वयं आत्‍महत्‍या या आपराधिक कार्य करते समय होती है तो वे किसान इस योजना के तहत अपात्र होगे।

यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना की अन्‍य नियम-शर्ते

  • इस योजना को प्रदेश के कृषकों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए शुरू किया गया है।
  • आग लगने, बाढ़, बिजली गिरने, करंट लगने, सांप के काटने, जीव जन्‍तु/जानवर के काटने/मारने/आक्रमण से, समुद्र/नदी/झील/तालाब/पोखर या फिर कुए मे डूबने, आंधी-तूफान से, वृक्ष के गिरने/दबने, मकान गिरने, रेल/रोड/वायुयान/अन्‍य वाहन आदि से दुघर्टना का शिकार होने, भू-स्‍खलन होने, भूकंप, गैस रिसाव, विस्‍फोट, सीवर चैम्‍बर में गिरने अथवा अन्‍य किसी कारण से कृषक की दुघर्टना के चलते मृत्‍यु/दिव्‍यांगता होने पर इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • अगर किसी स्थिति में दुघर्टनावश मृत्‍यु होने या दिव्‍यांगता के प्रकार को लेकर किसी तरह का मतभेद होता है तो इस सबंध में सबधिंत जिलाधिकारी का फैसला अन्तिम होगा।
  • कृषक की मृत्‍यु अथवा दिव्‍यांगता अगर आत्‍महत्‍या या आपराधिक कार्य स्‍वंय करते वक्‍त होती है तो वेसे कृषक इस योजना के लाभ के पात्र नही होगे।
  • यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना के तहत अगर कृषक का दुघर्टना की तिथि को प्रधानमंत्री जीवन ज्‍योति बीमा योजना एवं प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत बीमा किया हुआ हो तथा भारत सरकार एवं राज्‍य सरकार द्वारा किसी अन्‍य योजना के तहत आर्थिक सहायता प्राप्‍त हो तो फिर दुघर्टना वश मृत्‍यु/दिव्‍यांगता की दशा में कृषक अथवा उसके विधिक वारीस को अन्‍तर की राशि देय होगी।
  • कृषक की मृत्‍यु/दिव्‍यांगता की दशा में उसके कानूनी वारिस अथवा स्‍वंय कृषक द्वारा आवेदन किया जाएगा। अगर वारिसो की सख्‍ंया एक से अधिक है तो फिर सयुक्‍ंत रूप से आवेदन किया जाएगा।
  • UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana के तहत सहायता प्राप्‍त करने के लिए विधिक वारीसो को या स्‍वंय कृषक को आवेदन फॉर्म के साथ जमीन के कागजात, आयु प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र, पोस्‍ट मार्टम रिपोर्ट अथवा पचंनामा, मृत्‍यु प्रमाण पत्र, दिव्‍यागंता की दशा में दिव्‍यांग प्रमाण पत्र, बैंक पासबुक की कॉपी, मोबाइल नबंर एवं अपना आधार नबंर जमा कराना होगा।

UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana के जरूरी दस्‍तावेज

यूपी कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना के तहत किसान या फिर किसान के वारिसो को योजना के तहत आवेदन फॉर्म के लिए निम्‍नलिखित दस्‍तावेज चाहिए होंगे।

  • आधार कार्ड
  • आयु प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मृत्‍यु का प्रमाण पत्र
  • दिव्‍यांग सर्टिफिकेट
  • बैंक पासबुक की प्रति
  • चालू मोबाइल नबंर
  • पासपोर्ट साइट का फोटो
  • खतौनी की प्रमाणित प्रति।
  • पट्टे / बटाई संबधी प्रमाण पत्र
  • पोस्‍ट मार्टम रिपोर्ट या फिर पचंनामा

UP मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना में आवेदन कैसे करे?

अगर आप इस योजना के तहत दी गई सभी पात्रता को पूरा करते है तो आप UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana में आवेदन कर सकते है। इसके लिए आपको इस योजना के तहत दुघर्टना की तिथि के 45 दिवस के भीतर आवेदन देना होगा। इस योजना में आवेदन करने के लिए आपको कुछ चरणों का पालन करना होगा जो कि इस तरह है-

  • इस योजना में आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले यूपी शासनादेश की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपको यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करना होगा।
  • आपको इस योजना का एप्‍लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करने में कोई समस्‍या ना आये इसके लिए हम आपको फॉर्म की सीधी लिंक प्रदान कर रहे है।
  • आप हमारे द्वारा दी जा रही इस लिंक पर क्लिक करके भी इस आवेदन फॉर्म को डाउनलोड कर सकते है।

UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana Application Form PDF

  • जब आप हमारे द्वारा ऊपर दी गई फॉर्म की लिंक पर क्लिक करेगे तो आपके सामने इस योजना का आवेदन फॉर्म ओपन हो जाएगा। जैसा कि आपको नीचे फोटो में दिखाया गया है।
  • इसके बाद आपको इस फॉर्म को डाउनलोड कर इसका प्रिंट निकाल लेना है।
UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana Form Download
  • अब आपको इस आवेदन फॉर्म में पूछी जा रही सभी तरह की जानकारीयो को ध्‍यानपूर्वक भरना होगा।
  • इसके पश्‍चात् आवेदन फॉर्म के साथ जरूरी दस्‍तावेजो को अटैच कर लेना है।
  • जिसके बाद भरे हुए आवेदन फॉर्म को आपको सबंधित तहसील कार्यालय में जमा करवाना होगा।

UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana Online Form 2022

अगर आप इस योजना में ऑनलाइन आवेदन करने की सोच रहे है तो आपको बता दे कि फिलहाल आप केवल ऑफलाइन आवेदन कर इस योजना का लाभ ले सकते है। सरकार द्वारा आने वाले समय में इस योजना के सफल क्रियान्‍वयन हेतु एक वेब पोर्टल का निर्माण कराया जाएगा। जिसके पश्‍चात् पात्र आवेदक मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना में ऑनलाइन आवेदन कर सकेगे। अभी वर्तमान में इस योजना के तहत केवल ऑफलाइन माध्‍यम में आवेदन किए जा सकते है। जिसकी पूरी जानकारी हमने आपको ऊपर प्रदान कर दी है।

UP CM Krishak Durghatna Kalyan Yojana-आवेदन पत्र निस्‍तारीकरण की प्रक्रिया

  • कृषक की मृत्‍यु/दिव्‍यांग होने की दशा में कृषक द्वारा स्‍वंय अथवा विधिक वारिस/वारीसो द्वारा निर्धारित समय के भीतर आवेदन करना होगा।
  • आवेदक को योजना का आवेदन फॉर्म भरकर दस्‍तावेजो के साथ सबंधित तहसील कार्यालय में जमा करना होगा।
  • तत्‍पश्‍चात् तहसील कार्यालय के अधिकारीयो द्वारा 2 सप्‍ताह के भीतर आवेदन पत्र की जांच कर उपजिलाधिकारी को प्रेषित किया जाएगा।
  • आवेदन पत्र व दस्‍तावेजों की छाया प्रति पत्रावली सबंधित तहसील कार्यालय में भी सुरक्षित रखी जाएगी। व इसका विवरण तहसील के रजिस्‍टर/कम्‍प्‍यूटर में भी सरंक्षित किया जाएगा।
  • इसके बाद उप जिल‍ाधिकारी कार्यालय में आवेदन पत्रावली प्राप्‍त होने के बाद उपजिलाधिकारी द्वारा अपने अधीनस्‍थ अधिकारी / कर्मचारी द्वारा आवेदन पत्र मे दर्ज विवरण की जाचं कर क्रॉस चैकिंग करवाई जाएगी।
  • आवेदन पत्रावली की जांच करने के बाद सतुष्‍ंट होने पर आवेदन पत्रावली के एक सप्‍ताह के भीतर जिलाधिकारी को प्रेषित की जाएगी।
  • उपजिलाधिकारी के लेवल पर किया गया क्रॉस चेक थर्ड पार्टी चेक के रूप में माना जाएगा।
  • जिलाधिकारी कार्यालय में आवेदन पत्रावली मिलने के बाद सामान्‍यत: 1 सप्‍ताह के अन्‍दर आवेदन पत्र का परीक्षण कर निस्‍तारण/भुगतान जिलाधिकारी के द्वारा किया जाएगा।
  • वही आवेदन पत्र के साथ समस्‍त अभिलेखो को जिलाधिकारी के भुलेख अनुभाग में तथा रिकॉर्ड रजिस्‍टर/कम्‍प्‍यूटर में सुरक्षित किया जाएगा।
  • अगर आवेदन पत्र स्‍वीकृत होता है तो उस दशा में इस योजना के तहत लाभार्थी के बैंक खाते में सहायता राशि का ऑनलाइन भुगतान किया जाएगा।
  • जिलाधिकारी के कार्यालय द्वारा आवेदन पत्र के स्‍वीकृत अथवा अस्‍वीकृत होने की जानकारी उप जिलाधिकारी , तहसीलदार एवं प्रार्थी को भेजी जाएगी।
  • इस तरह से जिला प्रशासन के द्वारा एक महीने के भीतर प्रस्‍तुत आवेदन पत्र का निस्‍तारण/भुगतान किया जाएगा।
  • कुछ परिस्थितियाे में अधिकतम 45 दिनों के भीतर आवेदन पत्र का निस्‍तारीकरण/भुगतान सुनिश्चित किया जाएगा।

आज की इस पोस्‍ट के माध्‍यम से हमने आपको उत्तरप्रदेश मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना के बारे मे जरूरी जानकारी प्रदान की है। अगर पोस्‍ट मे बतायी गयी जानकारी आपको पसंद आयी हो तो इसे सभी के साथ शेयर करे।

अन्‍य पोस्‍ट भी पढे़-

Advertisement

UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana Faqs

Q. यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना क्‍या है?

Ans. उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा राज्‍य के किसानों को दुघर्टना का शिकार होने पर आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए इस योजना को शुरू किया जा रहा है इसके तहत कृषक को दुघर्टनवश मृत्‍यु या दिव्‍यांगता होने पर 500000 रूपये तक की आर्थिक सहायता मुआवजे के तौर पर दी जाती है।

Q. कौन-कौनसी दुघर्टना के लिए मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना का लाभ लिया जा सकता है?

Ans. UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana के तहत अगर कृषक की आग लगने, बाढ़, बिजली गिरने, करंट लगने, सांप के काटने, जीव जन्‍तु/जानवर के काटने/मारने/आक्रमण से, समुद्र/नदी/झील/तालाब/पोखर या फिर कुए मे डूबने, आंधी-तूफान से, वृक्ष के गिरने/दबने, मकान गिरने, रेल/रोड/वायुयान/अन्‍य वाहन आदि से दुघर्टना का शिकार होने, भू-स्‍खलन होने, भूकंप, गैस रिसाव, विस्‍फोट, सीवर चैम्‍बर में गिरने अथवा अन्‍य किसी कारण से मृत्‍यु होती है या फिर कृषक दिव्‍यांग हो जाता है तो उसे कृषक को या उसके वारिस को इस योजना का लाभ दिया जाता है।

Q. यूपी कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना के तहत किसान की आयु कितनी होनी चाहिए?

Ans. इस योजना के तहत कृषक की मृत्‍यु अथवा दिव्‍यांग होने की तारीख को उसकी आयु 18 वर्ष से लेकर 70 वर्ष के बीच होनी चाहिए। तभी कृषक अथवा वारिस द्वारा इस योजना मे आवेदन किया जा सकता है।

Q. UP मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना के तहत मृत्‍यु/दिव्‍यांग होने पर कितने रूपये की सहायता राशि दी जाती है?

Ans. इस योजना के तहत कृषक को दुघर्टना के चलते मृत्‍यु या पूर्ण रूप से अक्षम होने पर 5 लाख रूपये की धनराशि का मुआवजा दिया जाता है। इसके अलावा दोनो हाथ अथवा दोनो पैर अथवा दोनो आखो की क्षति की दशा में 100 प्रतिशत धनराशि, एक पैर तथा एक हाथ की क्षति होने पर 100 प्रतिशत मुआवजा, एक हाथ या एक पैर या एक आंख की क्षति की दशा में 50 प्रतिशत धनराशि दी जाती है। वही स्‍थायी दिव्‍यागंता 50 प्रतिशत से अधिक होने पर किन्‍तु 100 प्रतिशत से कम होने की दशा में पचास प्रतिशत धनराशि का मुआवजा दिया जाता है। अगर स्‍थायी दिव्‍यागंता 25 प्रतिशत से अधिक त‍था 50 प्रतिशत से कम हो तो उस दशा में लाभार्थी को 25 प्रतिशत धनराशि का मुआवजा दिया जाता है।

Q. यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना में आवेदन कैसे किया जा सकता है?

Ans. इस योजना में आवेदन हेतु आवेदक को निर्धारित आवेदन प्रपत्र फॉर्म भरकर जरूरी दस्‍तावेजो के साथ सबंधित तहसील कार्यालय में जमा कराना होगा। जिसके पश्‍चात् सबंधित विभाग द्वारा फॉर्म की जांच कर आवेदन को स्‍वीकृति प्रदान की जाती है।

Q. यूपी दुघर्टना कल्‍याण योजना के लिए आवेदक के पास क्‍या-क्‍या दस्‍तावेज होने चाहिए?

Ans. इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए आवेदक के पास जमीन के दस्‍तावेज, आयु प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, मोबाइल नबंर, बैंक पासबुक की कॉपी, दिव्‍यांगता की दशा मे दिव्‍यांग प्रमाण पत्र, कृषक की मृत्‍यु की दशा में मृत्‍यु प्रमाण पत्र, विवादित उत्तराधिकार की स्थिति में उत्तराधिकार प्रमाण पत्र, पोस्‍ट मार्टम की रिपोर्ट अथवा पचंनामा इत्‍यादि होने चाहिए।

Q. UP मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना की ऑफिशियल वेबसाइट लिंक क्‍या है?

Ans. इस योजना के तहत सरकार द्वारा अभी वेब पोर्टल की शुरूआत नही करी गई है जैसे ही आने वाले समय में इस योजना के तहत कोई वेब पोर्टल लॉन्‍च किया जाएगा तो उसकी सूचना आपको इसी लेख के माध्‍यम से प्रदान कर दी जाएगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *