Advertisement

मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना आवेदन फॉर्म 2021 – UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana

Advertisement

Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana| उत्‍तरप्रदेश मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना आवेदन कैसे करे|UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana Form PDF

उत्‍तरप्रदेश मुख्‍यमंत्री कृषक दुघर्टना कल्‍याण योजना की शुरूआत राज्‍य के मुख्‍यमंत्री श्री योगी आदित्‍यनाथ जी के द्वारा 14 सितम्‍बर 2019 को की गई थी। इस योजना के तहत उत्‍तरप्रदेश के किसानों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। आप जानते है कि बहुत बार किसान अपने खेतों पर काम करते समय हादसे के शिकार हो जाते है जिसकी वजह से किसान शारीरिक रूप से विकलांग हो जाते है यहा तक की बहुत बार किसानो की दुर्घटनावश मृत्‍यु तक हो जाती है। ऐसे में इस योजना के तहत किसानों को दुर्घटना की क्षतिपूर्ति हेतु मृत्‍यु या दिव्‍यांगता होने पर अधिकतम 5,00,000 लाख रूपए तक की सहायता राशि प्रदान करी जाएगी।

Advertisement

Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana के तहत किसानों को यह सहायता धनराशि दुर्घटना की स्थिति या दिव्‍यांगता की स्थिति के हिसाब से अलग अलग निर्धारित की गई है। जिसकी पूरी जानकारी हम आगे दे रहे है। अगर आप उत्‍तरप्रदेश के किसान है ओर जानना चाहते है कि मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना क्‍या है, इसके लाभ, पात्रता व आवेदन फॉर्म भरने की Full Process जानने के लिए आप इस लेख को पूरा अन्‍त तक पढ़े।

UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana 2021

यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना को किसानो के लिए पहले से चल रही योजना- मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना बीमा योजना की जगह पर शुरू किया गया है। इस योजना के अन्‍तर्गत अगर किसी किसान की खेती बाड़ी के दौरान दुर्घटनावश मृत्‍यु हो जाती है तो कृषक के परिवार को योजना के तहत 5 लाख रूपये की धनराशि की मदद दी जाएगी। वही दुर्घटना दौरान अगर किसान शारीरिक रूप से 60 प्रतिशत से ज्‍यादा विकलांग हो जाता है तो योजना के तहत किसान को 2 लाख तक की सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana के तहत लाभ लेने के लिए मृत्‍यु या फिर दिव्‍यांग होने की तारीख को किसान की उम्र 18 से 70 साल के बीच होनी चाहिए तभी इस योजना के तहत आवेदन किया जा सकता है। अगर आपको नहीं पता है कि इस योजना में आवेदन फॉर्म कैसे भरे तो इसकी प्रक्रिया आगे पोस्‍ट में दे दी गई है जिससे कि आप आसानी से योजना का लाभ प्राप्‍त कर सके।

Advertisement

उत्‍तरप्रदेश मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना बजट 2021-22

यूपी सरकार द्वारा हाल में प्रदेश का पहला पेपरलैस बजट पेश किया गया। इस बजट में प्रदेश के किसानों एवं अन्‍नदाताओं के विकास पर काफी जोर दिया गया। इस वित्तिय वर्ष के बजट में मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कलयाण योजना के लिए कुल 600 करोड़ रूपए के बजट का प्रावधान किया गया है। इसके अलावा किसानो के विकास के लिए एक अन्‍य योजना आत्‍मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना को शुरू करने की घोषणा भी की गई।

मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना में आर्थिक सहायता धनराशि

  • किसान की मृत्‍यु या फिर पूरी तरह शारीरिक रूप से असक्षमता – 100 प्रतिशत सहायता राशि।
  • दोनों पैर अथवा दोनो हाथ अथवा दोनो आखों की क्षति होने की दशा में – 100 प्रतिशत सहायता राशि।
  • एक हाथ तथा एक पैर की क्षति होने पर प्रदान की जाने वाली धनराशि का प्रतिशत – 100 प्रतिशत सहायता राशि।
  • एक पैर या एक हाथ या एक आखं की क्षति होने पर – 50 प्रतिशत सहायता राशि।
  • 50 प्रतिशत से अधिक स्‍थायी दिव्‍यांगता की दशा में (किन्‍तु 100% से कम) – 50 प्रतिशत आर्थिक सहायता।
  • 25 प्रतिशत से ज्‍यादा स्‍थायी दिव्‍यांगता होने पर (50 % से कम) – 25 प्रतिशत आर्थिक सहायता।

UP Krishak Durghatna Kalyan Yojana के तहत शाामिल दुर्घटना

उत्‍तरप्रदेश मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना 2021 के तहत किसानो को नीचे दी जा रही दुर्घटनाओ के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

  • इस योजना के तहत आंधी तूफान, पेड़ के गिरने या नीचे दबने, मकान गिरने आदि।
  • आग लगने, बाढ़, बिजली गिरने व करंट लगने की स्थिति में।
  • जीव-जन्‍तु या जानवर द्वारा काटने, मारने या फिर आक्रमण करने पर।
  • सापं के काटने की दशा में।
  • रेलगाड़ी, सड़क, हवाई जहाज या फिर अन्‍य वाहन आदि से दुर्घटना होने की दशा में।
  • भूस्‍खलन, गैस रिसाव, भूकंप, विस्‍फोट, सीवर चैबंर में गिरने पर।
  • नदी, झील, समुंद्र, तालाब, पोखर व कुएं आदि में गिरने पर।

यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना शुरू करने का उदेश्‍य

दरअसल दोस्‍तों जैसा कि आप अच्‍छे से जानते है कि किसानो को अपने खेतों में फसल पैदा करने में बहुत कठिन परिश्रम करना पड़ता है। किसानो द्वारा खेतों में शारीरिक मेहनत के अलावा मशीनी उपकरणों का उपयोग किया जाता है जिसके चलते किसान कभी कभी हादसे के शिकार हो जाते है। जिसमें किसानो की मौत तक हो जाती है व कभी कभी किसान भाई शारीरिक रूप से विकलांग हो जाते है जिससे उनकी सामाजिक सुरक्षा का खतरा बना रहता है ऐसे में प्रदेश सरकार द्वारा किसानों को समाजिक सुरक्षा के रूप में आर्थिक सहायता देने के लिए Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana को शुरू किया गया है। जिससे कि किसान की मृत्‍यु या शारीरिक विकलांग होने पर परिवार को मुआवजा दिया जा सके।

Advertisement

Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana के लिए पात्रताए

  • यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना 2021 के अन्‍तर्गत इस योजना का लाभ लेने के लिए किसान उत्‍तरप्रदेश का स्‍थायी निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के अन्‍तर्गत दुर्घटना में मृत्‍यु या दिव्‍यांग होने वाले किसान का नाम खतौनी में दर्ज खातेदार / सह खातेदार के तौर पर होना चाहिए।
  • परिवार के अन्‍य कमाने वाले सदस्‍य जिनकी कमाई का मुख्‍य स्‍त्रोत खातेदार/सहखातेदार की कृषि भूमि है वे भी योजना के तहत पात्र होंगे।
  • पट्टे पर जमीन लेकर या फिर बटाई पर खेती बाड़ी करने वाले किसान जिनकी आजीविका का मुख्‍य स्‍त्रोत पट्टे/बटाई की भूमि है उन्‍हे भी योजना के तहत लाभ दिया जाएगा।
  • Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana के तहत 18 से लेकर 70 वर्ष के बीच के किसान हादसा का शिकार होने पर योजना के तहत योग्‍य होंगे।
  • योजना के तहत निर्धारित दुर्घटनाओं का शिकार होने पर किसान को लाभ दिया जाएगा। अगर किसान की मृत्‍यु या दिव्‍यांगता, आत्‍महत्‍या करते समय होती है तो किसान को लाभ नही दिया जाएगा।

Mukhyamantri krishak Durghatna Kalyan Yojana के जरूरी दस्‍तावेज

यूपी कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना के तहत किसान या फिर किसान के वारिसो को योजना के तहत आवेदन फॉर्म के लिए निम्‍नलिखित दस्‍तावेज चाहिए होंगे।

  • आधार कार्ड
  • आयु प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मृत्‍यु का प्रमाण पत्र
  • दिव्‍यांग सर्टिफिकेट
  • बैंक पासबुक की प्रति
  • चालू मोबाइल नबंर
  • पासपोर्ट साइट का फोटो
  • खतौनी की प्रमाणित प्रति।
  • पट्टे / बटाई संबधी प्रमाण पत्र
  • पोस्‍ट मार्टम रिपोर्ट या फिर पचंनामा

यूपी मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना आवेदन आवेदन फॉर्म कैसे भरे?

राज्‍य के जो भी किसान / किसान के वारीस इस योजना के तहत दुर्घटना की एवज में आर्थिक धनराशि का लाभ लेना चाहते है तो उन्‍हें योजना के तहत दुर्घटना की तिथि से अधिकतम 45 दिनों के भीतर यानि कि डेढ़ महिने के अन्‍दर आवेदन करना होगा। अगर आपको नहीं पता कि आवेदन कैसे करे तो नीचे दिए Steps को फोलो करे।

  • आवेदन हेतु सबसे पहले आपको राज्‍य सरकार की अधिकारीक वेबसाइट पर जाकर निर्धारित आवेदन फॉर्म डाउनलोड करना होगा।
  • यदि वेबसाइट पर जाकर आवेदन फॉर्म पीडीएफ डाउनलोड करने मे कोई दिक्‍कत आ रही है तो फिर आप यहा से भी Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana Form PDF download कर सकते है।
  • जैसे ही आप उपर दी गई लिंक पर जाएंगे तो आपके सामने कुछ इस से उत्‍तरप्रदेश मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना का एप्‍लीकेशन फॉर्म Open हो जाएगा।
मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना आवेदन फॉर्म 2021 – UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana
  • इसके बाद आपको आवेदन फॉर्म डाउनलोड करके इसका Print Out निकालकर फॉर्म में पूछी गई तमाम जानकारीयो को सही सही भरना होगा।
  • फॉर्म को पूरा भरने के बाद इसके साथ सभी जरूरी दस्‍तावेजों को लगाकर सबंधित तहसील कार्यालय में जमा करवाना होगा।
  • इस तरह से प्रदेश के पात्र किसान / वारिस UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana के लिए आवेदन कर सकते है।

आज की इस पोस्‍ट के माध्‍यम से हमने आपको उत्तरप्रदेश मुख्‍यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्‍याण योजना 2021 के बारे मे जरूरी जानकारी प्रदान की है। अगर पोस्‍ट मे बतायी गयी जानकारी आपको पसंद आयी हो तो इसे सभी के साथ शेयर करे। अगर आपके मन मे कोई प्रश्‍न है तो आप कमेंट करके जरूर पूछे। इसके अलावा UP Mukhyamantri Krishak Durghatna Kalyan Yojana की अधिक जानकारी के लिए आप अधिकारीक नोटिफिकेशन जरूर पढ़े।

यूपी मुख्‍यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना 2021

यूपी राष्‍ट्रीय पारिवारीक लाभ योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे।

केन्‍द्र एवं राज्‍य सरकार द्वारा चलाई जाने वाली तमाम तरह की योजनाओ की जानकारी से अपडेट रहने के लिए आप हमारे Facebook Page को भी Like कर सकते है। धन्‍यवाद

Leave a Comment