Advertisement

Madhya Pradesh Nishulk Cycle Vitran Yojana | मध्‍यप्रदेश नि:शुल्‍क साइकिल वितरण योजना ऑनलाइन आवेदन करें

Advertisement

Madhya Pradesh Nishulk Cycle Vitran Yojana | मध्‍यप्रदेश नि:शुल्‍क साइकिल वितरण योजना ऑनलाइन आवेदन करें | MP Nishulk Cycle Vitran yojana 2022 | मध्‍यप्रदेश नि:शुल्‍क साइकिल वितरण योजना के बारें में | MP Free Cycle Yojana Online Apply | एमपी फ्री साइकिल योजना आवेदन करे | Madhya Pradesh Free Cycle Vitran Scheme 2022 | एमपी मुफ्त साइकिल वितरण योजना 2022 | MP Muft cycle Vitran yojana Online Application Form | मध्‍यप्रदेश फ्री साइकिल योजना 2022 | MP Nishulk cycle Vitran Yojana in Hindi

दोस्‍तो आज के इस लेख में आपको एक ऐसी योजना के बारें में बताएगे जिसका लाभ उठाकर आपके बच्‍चे को स्‍कूल जाने में किसी प्रकार की पेरशानी नहीं आएगी। हम बार कर रहे है मध्‍यपद्रेश शासन द्वारा शुरू की गई नि:शुल्‍क साइकिल वितरण योजना के बारें जिसकी शुरूआत प्रदेश के कक्षा 6ठीं एवं 9वीं तक के शासकीय विद्यालयों में अध्‍यनरत कर रहे बालक व बालिकाओं की शिक्षा को जारी रखने के लिए योजना को किया है। साथ ही विद्यार्थीयों को छात्रवृत्ती के रूप में सहायता राशि प्रदान की जाएगी। और यदि आप इस स्‍कीम के बारें में डिटेल से जानना चाहते है तो पोस्‍ट के अतं तक बने रहे।

Advertisement

मध्‍यप्रदेश नि:शुल्‍क साईकिल वितरण योजना क्‍या है

Madhya Pradesh Nishulk Cycle Vitran Yojana | मध्‍यप्रदेश नि:शुल्‍क साईकिल वितरण योजना क्‍या है
Madhya Pradesh Nishulk Cycle Vitran Yojana

नि:शुल्‍क साईकिल वितरण योजना की शुरूआत मध्‍यप्रदेश राज्‍य सरकार ने साल 2015 में की थी। जिसके तहत जो बच्‍चे ग्रामीण क्षेत्र में अपनी पढ़ाई सरकारी विद्यालयों में कर रहे है। उनको फ्री में साइकिल दीजाएगी किन्‍तु केवल उन्‍ही छात्र व छात्राओं को दी जाएगी जो कक्षा 6 एवं 9वीं में पढ रहे है। इस स्‍कीम के अनुसार कक्षा 6 के विद्यार्थीयों को 18 इंच की साइकिल तथा कक्षा 9 वीं के छात्रों को 20 इंच की साइकिल क्रय कर राज्‍य शासन द्वारा दी जाती है। ताकी विद्यार्थीयो की रूचि शिक्षा के प्रति जागरूक हो और ड्राप-आउट विद्यार्थियो की संख्‍या में कमी आई। जिससे उनके आत्‍मविश्‍वास में वृद्धि हो। और यदि ऐसा होगा तो बच्‍चो का भविष्‍य सुधर जाएगा एक दिन वो बडा पद हासिल करेगे। यदि छात्र किसी कारण वश पुन: कक्षा 6 और 9 में प्रवेश करता है तो वह दुबारा योजना का पात्र नहीं माना जाता है।

मध्‍यप्रदेश नि:शुल्‍क साईकिल वितरण योजना का उदेश्‍य

आज भी राज्‍य में बहुत से गॉव कस्‍बे ऐसे है जिनमें शिक्षा से संबधित किसी प्रकार का संसाधन नहीं होने के कारण उस गॉव के बच्‍चे शिक्षा ग्रहण करने के लिए अन्‍य गॉव में जाते है। अपनी पढ़ाई को जारी रखने के लिए सभी बच्‍चे पैदल एक गॉव से दूसरे गॉव जाते है। जिनमे से बहुत से बच्‍चे 2 किलोमीटर व उससे भी ज्‍यादा दूरी पर जाते है। इस प्रकार उन बच्‍चों को कई तरह की परेशानी उठानी पड़ती है बच्‍चों की इस परेशानी को ध्‍यान में रखते हुए मध्‍यप्रदेश शिक्षा विभाग ने नि:शुल्‍क साइकिल वितरण योजना की शुरूआत की है। जिसके तहत साइकिल खरीदने के लिए 2400/- रूपये की धनराशि प्रदान की जाएगी। किन्‍तु इस Madhya Pradesh Nishulk Cycle Vitran Yojana का लाभ केवल कक्षा6 एवं 9 के छात्र व छात्राए उठा सकते है। इसके अलावा उन्‍ही विद्यार्थीयों को जो सकरारी स्‍कूल में अध्‍यन कर रहे है। ना की किसी प्रोईवेट स्‍कूल में।

एमपी नि:शुल्‍क साइकिल वितरण योजना 2022 के लाभ व विशेषताए

  • प्रदेश के छात्रो को सुविधा प्रदान करने वाली नि:शुल्‍क साइकिल योजना की शुरूआतर राज्‍य सरकार ने साल 2015 में की थी।
  • एमपी फ्री साइकिज वितरण योजना Madhya Pradesh Nishulk Cycle Vitran Yojana का लाभ केवल राज्‍य में ग्रामीण क्षेत्रो के विद्यार्थी कक्षा 6 एवं 9 में अध्‍यन कर रहे है। अर्थात किसी सरकारी स्‍कूल में पढ़ाई कर रहे है।
  • नि:शुल्‍क साइकिल वितरण स्‍कीम का लाभ केवल उन्‍ही छात्रो को दिया जाएगा जो गॉव में किसी शासकी माध्‍यमिक या हाई स्‍कूल में उपलब्‍ध नहीं है। और अपनी पढ़ाई करने के लिए किसी अन्‍य गॉव में पैदल जाते है।
  • इस योजना का लाभ केवल विद्यार्थी एक बार ही दिया जाएगा यदि कारणवश लाभार्थी छात्र व छात्रा कक्षा 6 और 9 में दुबार प्रेवश करते है तो उसे योजना का लाभ दुबारा नहीं दिया जाता है 1
  • इस स्‍कीम के अनुसार साइकिल खरीदने के लिए उस विद्यार्थी के खाते में 2400/- रूपये की धनराशि ट्रास्‍पर की जाती है।
  • योजना के नियम के अनुसार यदि किसी विद्यार्थी ने अपना एड्रस उसके गॉव का लिखा है और यदि वह आवेदन फॉर्म में दूसरा पता लिखता है तो उसे योजना के योग्‍य नहीं माना जाता है।
  • मध्‍यप्रदेश नि:शुल्‍क साइकिल वितरण योजना के तहत कक्षा 6 के बालका व बालिका को 18 इंच की साइकिल व कक्षा 9 में पढ़ाई कर रहे बालक व बालिका को 20 इंच की साइकिल दी जाती है।
  • इसके अलावा उन्‍ही छात्रों को साइकिल दी जाएगी जो अपने घर से लगभग 2 किलोमीटर से अधिक दूरी पर शिक्षा के लिए जाते है।

मध्‍यप्रदेश फ्री साइकिल वितरण योजना की पात्रता

  • एमपी फ्री साइकिल वितरण स्‍कीम Madhya Pradesh Nishulk Cycle Vitran Yojana का लाभ केवल मध्‍यप्रदेश राजय के मूल व स्‍थायी निवासी छात्र व छात्राए उइा सकती है।
  • इसके अलावा योजना के जरिए उन विद्यार्थीयों को साइकिल दी जाती है जो किसी सरकारी स्‍कूल में पढ़ रहे है
  • इस योजना के अनुसार साइकिल के लिए मिलने वाली राशि सीधे आवेदक के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाती है।
  • नि:शुल्‍क साइकिल योजना के अनुसार जो बच्‍चे अपने गॉव से लगभग 2 किलोमीटर की दूरी पर पढ़ने के लिए जाते है तो वो सब योजना के पात्र है।
  • योजना के तहत उन्‍ही विद्यार्थीयों को साइकिल दी जाती है जो कक्षा 6 और 9 में पढ रहे है।
  • जो बच्‍चे प्राइवेट स्‍कूल में पढ़ाई कर रहे है वो सभी इस योजना के पात्र नहीं है।

जरूरी दस्‍तावेज

  • आधार कार्ड
  • समग्र आईडी कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • ईमेल आईडी
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

मध्‍यप्रदेश नि:शुल्‍क साइकिल वितरण योजना ऑनलाइन आवेदन करें

  • सबसे पहले आपको इस Madhya Pradesh Nishulk Cycle Vitran Yojana की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा। जिसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • इस पेज पर आकपो नि:शुल्‍क साइकिल वितरण योजना का विकल्‍प दिखाई देगा उस पर क्लिक कर देना है।
  • जिसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म का पीडीएफ आ जाएगा इस आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी सही-सही भरनी होगी तथा जरूरी दस्‍तावेज को अपलोड करके सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रक्रिया को पूर्ण करने के बाद आप मध्‍यप्रदेश नि:शुल्‍क साइकिल वितरण योजना के लाभार्थी बन जाएगे।

आज के इस लेख में आपको मध्‍यप्रदेश फ्री साइकिल वितरण योजना Madhya Pradesh Nishulk Cycle Vitran Yojana के बारें में विस्‍तार से बताया है। जानकारी अच्‍छी लगी तो लाईक करे व अपने मिलने वालो को साझा करे। यदि किसी प्रकार का प्रश्‍न है तो कमंट करके जरूर पूछे। धन्‍यवाद

Advertisement

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *